Home देश समाचार राजस्‍थान: कोर्ट ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत के खिलाफ शिकायत की जांच...

राजस्‍थान: कोर्ट ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत के खिलाफ शिकायत की जांच के आदेश दिए, जानें क्‍या है मामला..


कोर्ट ने उस कथित घोटाले की जांच का आदेश दिया है जिसमें गजेंद्र सिंह शेखावत को आरोपी बनाया गया है

जयपुर:

जयपुर की एक अदालत ने राजस्थान पुलिस को उस कथित घोटाले (Alleged scam) की जांच का आदेश दिया है जिसमें बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) आरोपी हैं. अपने ‘पूर्व डिप्टी’ सचिन पायलट की ओर से अपनी सरकार के खिलाफ (Rajasthan political crisis) बगावत का सामना कर रहे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot)ने शेखावत का नाम उन बीजेपी नेताओं में लिया था, जो कथित रूप से बागी कांग्रेस विधायकों के साथ सौदा करने में शामिल थे. स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप या SOG ने पहले ही एक और मामले में केंद्रीय मंत्री को नोटिस भेजा है जिसमें राजस्थान में कांग्रेस विधायकों को कथित तौर पर ‘लुभाने’ के ऑडियो क्लिप शामिल हैं।

यह भी पढ़ें

मंगलवार को अतिरिक्त जिला न्यायाधीश पवन कुमार ने अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत को कथित क्रेडिट सोसाइटी घोटाले की शिकायत SOG को भेजने के लिए कहा है. शेखावत, उनकी पत्नी और अन्य का नाम संजीवनी क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी से जुड़ी शिकायत में रखा गया है, इसके अनुसार हजारों निवेशकों ने कथित तौर पर एक साल पहले 900 करोड़ रुपये की राशि गंवानी पड़ी थी. अगस्त 2019 में पहली सूचना रिपोर्ट दायर होने के बाद से जयपुर SOG मामले की जांच कर रही है. एसओजी द्वारा दायर आरोप पत्र में शेखावत का नाम नहीं था. बाद में, एक मजिस्ट्रेट की अदालत ने भी शेखावत का नाम आरोप पत्र में शामिल करने के आवेदन को खारिज कर दिया था.

आवेदकों, जिन्‍होंने योजना में निवेश किया था, ने इसके अतिरिक्त जिला न्यायाधीश की अदालत का दरवाजा खटखटाया. जिसने निर्देश जारी किया कि उनकी शिकायत की भी जांच की जानी चाहिए. शिकायतकर्ता गुलाम सिंह और लब्‍बू सिंह ने FIR में एक मनी ट्रेल का आरोप लगाया, जिसके कारण कंपनियों को कथित रूप से केंद्रीय मंत्री से जोड़ा गया था. बाड़मेर के इन दोनों निवासियों ने आरोप लगाया कि एसओजी ने केंद्रीय मंत्री या कंपनियों की भूमिका की जांच नहीं की. शिकायतकर्ताओं ने आरोप लगाया कि एसओजी ने मंत्री और अन्य लोगों की रक्षा करने की कोशिश की, जिन्हें आरोप पत्र में नामित नहीं किया गया था.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

ADMINhttps://currentnewsinhindi.com
I am a Content Writer, i am watching whole world current news then after publish in our news blog for our viewer with original source link.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

केंद्र सरकार के 30 लाख गैर-राजपत्रित अधिकारियों को मिलेगा बोनस, कुल 3,737 करोड़ खर्च होंगे

केंंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (फाइल फोटो).नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 2019-2020 के लिए उत्पादकता से जुड़े बोनस और गैर-उत्पादकता से जुड़े बोनस को...

‘स्मृति दिवस’ पर अमित शाह ने की पुलिसबल की तारीफ, बोले- कोरोना से डटकर लड़ रहे हमारे योद्धा

अमित शाह ने पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, 'वर्दी में मौजूद ये योद्धा...

भारत में COVID-19 के कुल केस 76 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 54,044 मामले, 717 की मौत

Coronavirus in India: बीते 24 घंटे में 61,775 मरीज़ हुए ठीकनई दिल्ली: Coronavirus in India:  बुधवार को एक बार फिर कोरोना वायरस के...