Home दुनिया समाचार US ने H-1B वीज़ा पर जारी किए नए नियम, भारतीय IT प्रोफेशनल्स...

US ने H-1B वीज़ा पर जारी किए नए नियम, भारतीय IT प्रोफेशनल्स को होगा नुकसान


होमलैंड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने H-1B वीजा के नए नियमों की घोषणा की. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वॉशिंगटन:

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन (Trump Administration) ने मंगलवार को टेक्नोलॉजी कंपनियों की ओर से बड़े स्तर पर इस्तेमाल किए जाने वाले इमिग्रेशन वीजा (Immigration Visas) को लेकर नए नियम जारी किए गए हैं. ट्रंप प्रशासन ने दावा किया है कि यह न सिस्टम अमेरिकियों  के लिए बेहतर होगा. होमलैंड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने कुशल कामगारों के लिए जारी किए जाने वाले H-1B वीजा के लिए नए नियमों की घोषणा की. यह वीजा हर साल 85,000 प्रवासियों को दिया जाता है.

यह भी पढ़ें

होमलैंड सिक्योरिटी के सेक्रेटरी चैड वुल्फ ने एक बयान में कहा, ‘हम ऐसे वक्त में पहुंच गए हैं, जब आर्थिक सुरक्षा होमलैंड सिक्योरिटी का एक अहम हिस्सा बन चुका है. आसान शब्दों में कहें तो आर्थिक सुरक्षा अब होमलैंड सिक्योरिटी है. हमें कानून के अंतर्गत रहते हुए यह सुनिश्चित करना होगा कि अमेरिकी कामगारों को वरीयता मिले.’

यह भी पढ़ें: अमेरिकी जज ने H-1B वीजा बैन पर लगाई रोक, बोले- राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने अधिकार से परे जाकर काम किया

प्रवासियों के नियमन को लेकर ट्रंप प्रशासन की कोशिशों में यह अगला कदम है. ट्रंप प्रशासन ने H-1B वीजा प्रोग्राम पर दिसंबर, 2020 तक रोक लगा दी थी, जिसपर पिछले हफ्ते एक फेडरल जज ने रोक लगा दी है. मंगलवार को जारी किए गए नए नियमों की पूरी डिटेल अभी जारी नहीं की गई है, लेकिन जानकारी है कि इसमें ‘विशेष व्यवसायों’ की परिभाषा को बदला गया था. इसपर होमलैंड सिक्योरटी का कहना है कि कंपनियां इसके जरिए सिस्टम का गलत फायदा उठाती थीं.

60 दिनों के कॉमेंट पीरियड (इस दौरान इसके खिलाफ सार्वजनिक आपत्तियां दाखिल की जा सकती हैं) के बाद इस प्रोग्राम को लागू कर दिया गया था. इसमें कंपनियों से विदेशियों को लाने से पहले अमेरिकी नागरिकों को ‘असली’ ऑफर देने का प्रावधान किया गया है. यह वीजा प्रोग्राम सिलिकॉन वैली की कंपनियों द्वारा बड़े स्तर पर इस्तेमाल किया जाता है. इसी प्रोग्राम के तहत आईटी क्षेत्र और दूसरे कुशल क्षेत्रों में कामगारों को अमेरिका लाया जाता है. इनमें भारत से नौकरी के लिए अमेरिका जाने वाले आईटी प्रोफशनल्स की बड़ी संख्या है. प्रोग्राम के आलोचकों का कहना है कि इससे कुछ प्रोफेशनल क्षेत्रों में सैलरी का रेंज कम हो गया है. 

Video: COVID-19 से पीड़ित डोनाल्ड ट्रंप की सेहत पर अटकलों का दौर

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

ADMINhttps://currentnewsinhindi.com
I am a Content Writer, i am watching whole world current news then after publish in our news blog for our viewer with original source link.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

‘स्मृति दिवस’ पर अमित शाह ने की पुलिसबल की तारीफ, बोले- कोरोना से डटकर लड़ रहे हमारे योद्धा

अमित शाह ने पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के जवानों और अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा, 'वर्दी में मौजूद ये योद्धा...

भारत में COVID-19 के कुल केस 76 लाख के पार, पिछले 24 घंटे में दर्ज हुए 54,044 मामले, 717 की मौत

Coronavirus in India: बीते 24 घंटे में 61,775 मरीज़ हुए ठीकनई दिल्ली: Coronavirus in India:  बुधवार को एक बार फिर कोरोना वायरस के...

अमेरिका के विदेश और रक्षा मंत्री अगले हफ्ते आ रहे भारत, इन मुद्दों पर हो सकती है चर्चा

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ. (फाइल फोटो)वॉशिंगटन: अमेरिका (America) के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ (Mike Pompeo) और रक्षा मंत्री मार्क एस्पर (Mark...